Saturday, December 10th, 2022

फीफा वर्ल्ड कप 2022: फुटबॉल खिलाड़ियों को मिलनेवाले कप और गिफ्ट बॉक्स का उत्तर प्रदेश कनेक्शन : Lokmat Daily

फीफा वर्ल्ड कप 2022:  फुटबॉल खिलाड़ियों को मिलनेवाले कप और गिफ्ट बॉक्स का उत्तर प्रदेश कनेक्शन : Lokmat Daily

हाइलाइट्स

फीफा वर्ल्ड कप के विजेता और उपविजेता को कप और बॉक्स का डिजाइन आगरा में तैयार.
फीफा वर्ल्ड कप की ट्रॉफी को बनाने में बेहद कीमती रत्नों और गोल्ड का उपयोग किया गया.
यूपी के आगरा की कारीगरी और पच्चीकारी-नक्काशी की दुनिया भर के देशों में काफी मांग.

आगरा/दिल्ली. फु​टबॉल के सबसे बडे महाकुंभ फीफा वर्ल्ड कप 2022 (FIFA World Cup 2022) खेल 20 नवंबर को कतर देश में बेहद जोश और उमंग के साथ शुरू हो चुका है. पूरे विश्व में फुटबॉल खेल प्रेमियों की तादाद लाखों नहीं, बल्कि करोड़ों में है. फुटबॉल के इस फीफा वर्ल्ड कप 2022 में भारत देश के खिलाड़ी तो नहीं खेल रहे हैं. लेकिन, इस खेल का कनेक्शन इस बार उत्तरप्रदेश से सीधे तौर पर जुड़ा हुआ है. दरअसल, वर्ल्ड कप 2022 में जो मैच विजेता टीम होगी उसे प्रदान करने वाली बेहद कीमती ट्रॉफी और उस टीम के साथ-साथ उपविजेता टीम सहित अन्य खिलाड़ियों को देने के लिए जो कप और उसके बॉक्स का डिजाइन तैयार हुआ है, उसे आगरा में तैयार किया गया है.

कहा जा सकता है की आगरा की हस्तशिल्प कारीगरी और पच्चीकारी-नक्काशी की दुनिया के कई देशों में काफी मांग है. आगरा की विशेष तौर बेहद चर्चित हस्तशिल्प कला पच्चीकारी-नक्काशी के लिए भारत सहित कई अन्य देशों में काफी चर्चा अक्सर होती रहती है. ताजमहल की खूबसूरती को चार चांद लगाने में इस कला की बेहद महत्वपूर्ण भूमिका रही है. लिहाजा ये पच्चीकारी-नक्काशी विदेशों से आने वाले पर्यटकों को हमेशा बेहद लुभाता रहा है.

ताजमहल का नक्शा बनाने के लिए मशहूर है यह परिवार
उत्तर प्रदेश के आगरा (Agra, Uttar pradesh) मूल के रहने वाले बेहद चर्चित युवा कारोबारी अदनान शेख (Adnan Sheikh) का कहना है कि- हस्तशिल्प कारोबार और विशेष तौर पर पच्चीकारी-नक्काशी में उसके खानदान के कई परिवार कई पीढ़ियों से इस कारोबार में जुटे हुए हैं. समय के साथ-साथ इस कला को हमलोग और ज्यादा निखारने की कोशिश कर रहे हैं. कई दशकों पुरानी इस कला को आज के मॉर्डन जमाने में उसकी पुरानी खूबसूरती के साथ उस कला को देश-विदेश तक लेकर जाने की कोशिश में जुटे हैं. शायद इसी का परिणाम है कि फीफा वर्ल्ड कप 2022 ​के लिए विशेष टॉफी और उसके बॉक्स बनाने का जो काम उन्हें दिया गया है.

आपके शहर से (दिल्ली-एनसीआर)

उत्तर प्रदेश

दिल्ली-एनसीआर

उत्तर प्रदेश

दिल्ली-एनसीआर

नेचुरल सेमी प्रेसिसियस स्टोन से तैयार किया गिफ्ट बॉक्स
फीफा कप से संबंधित ट्रॉफी और खिलाड़ियों को आयोजनकर्ताओं द्वारा देने के ट्रॉफी सहित गिफ्ट बॉक्स को खूबसूरत तरीके से बनाने के लिए उत्तर प्रदेश के आगरा की कंपनी का चयन किया गया है. दरअसल, कप यानी ट्रॉफी को बनाने में बेहद कीमती रत्नों और गोल्ड का काम किया गया है. कप को बनाने के लिए नेचुरल सेमी प्रेसिसियस स्टोन से तैयार किया गया है. जिस स्टोन का नाम – प्राकृतिक लैपिस लाजुली रत्न (Lapis Lazuli)है. इसके ऊपर कांस्य (bronze) से काम किया हुआ है. इसके साथ ही उसके ऊपर 24 कैरेट गोल्ड (Gold platinum) के प्लेटिंग की गई है. हालांकि खिलाड़ियों वाले गिफ्ट बॉक्स का वजन करीब 22 किलोग्राम है. इस बॉक्स को बनाने में तकरीबन दो महीने का वक्त लगा है. इसको आर्टिसन द्वारा तैयार किया गया है. इसके अंदर हाथों की कारीगरी का काम किया गया है.

यूरोप और अफ्रीका के खिलाड़ियों को मिलेंगे गिफ्ट बॉक्स
आगरा में बने ट्रॉफी और गिफ्ट बॉक्स को फीफा वर्ल्ड कप में विजेता टीम के खिलाड़ियों को प्रदान किया जाएगा. जिसे विशेष तौर पर अफ्रीका और यूरोप देश से आए उन खिलाड़ियों को प्रदान किया जाएगा. इस बॉक्स को डिजाइन करने में कतर देश के बड़े डिजाइनरों द्वारा डिजाइन किया गया है. इसको अप्रूवल देने के लिए अफ्रीका और यूरोप देश के अधिकारियों द्वारा पास किया गया है. उसके बाद उत्तरप्रदेश के आगरा शहर में स्थित Adziran कंपनी द्वारा उसे तैयार किया गया. जिसकी खूबसूरती की चर्चा अब पूरे देश में हो रही है. Adziran कंपनी के मालिक अदनान शेख का कहना है कि ये हमारे देश और उत्तर प्रदेश के लिए बहुत खुशी की बात है कि यहां कारीगरी विदेशों में सराही जा रही है.

पच्चीकारी-नक्काशी का जलवा UAE पीएम के आवास में
युवा कारोबारी अदनान शेख के परिवार के बारे में ये कहा जाता है कि मुगल बादशाह शाहजहां (Shah Jahan, Mughal emperor​) ने इस परिवार के पूर्वजों को ईरान (Iran) से बुलाया था, क्योंकि इनके पूर्वजों द्वारा की गई पच्चीकारी-नक्काशी के मुरीद हो गए थे. लिहाजा उस वक्त के तात्कालीन मुगल बादशाह शाहजहां ने उस परिवार को ईरान से आगरा में बुलाया गया. उसके बाद पीढ़ी दर पीढ़ी इसी हस्तशिल्प कारोबार में आगे बढ़ते चले गए. इतिहास के पन्नों को खंगालने पर ये भी पता चलता है कि इसी परिवार के पूर्वजों के द्वारा ताजमहल का नक्शा भी बनाया गया था. इसी वजह से ये परिवार कई दशकों से आगरा में बेहद चर्चित हैं.

नई पीढ़ी के साथ ताजमहल की सुंदरता बरकरार करने में जुटे
इस परिवार के द्वारा बनाए गए नक्काशीदार पेंटिंग्स के UAE के मौजूदा प्रधानमंत्री (Prime Minister of United arab Emirates) शेख मोहम्मद भी मुरीद हो गए थे. दरअसल, अदनान शेख द्वारा एक विशेष स्टोन से एक पोट्रेट तैयार किया गया था. उसके बाद शेख मोहम्मद को गिफ्ट दिया गया था. आज भी अदनान शेख के पुरखों द्वारा तैयार किए गए यानी ट्रेनिंग दिए हुए कारीगर अपनी नई पीढ़ियों के साथ ताजमहल के अंदर उसकी सुंदरता को बनाए रखने के लिए कार्यरत हैं. अबू धाबी में स्थित शेख जायेद मॉस्क (Sheikh Zayed Mosque) में जो पिलर्स हैं उस पर आगरा निवासी अदनान शेख के पूर्वजों द्वारा पच्चीकारी-नक्काशी की गयी थी. ये शेख जायेद मॉस्क दुनिया भर में अपनी खूबसूरती के लिए ही चर्चित है.

Tags: Agra news, Fifa World Cup 2022, UP news

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: