Monday, September 26th, 2022

Opinion : मोदी सरकार की नई नीतियों से जम्मू-कश्मीर में सैलानियों में भारी इजाफा, हालात दिखने लगे हैं खुशगवार : Lokmat Daily

Opinion : मोदी सरकार की नई नीतियों से जम्मू-कश्मीर में सैलानियों में भारी इजाफा, हालात दिखने लगे हैं खुशगवार : Lokmat Daily

शरद 

नई दिल्‍ली. मोदी सरकार की नीतियों की वजह से जम्‍मू कश्‍मीर में सैलानियों की संख्‍या में भारी इजाफा हुआ है. यहां पर आने वाले पर्यटकों ने रिकार्ड तोड़ दिया है. धारा 370 हटने का परिणाम है कि प्री कोविड से कई गुना अधिक पर्यटक पहुंच रहे हैं. राज्‍य के पर्यटन विभाग के अनुसार यहां पहुंचने वाले पर्यटकों का यह आंकड़ा पहली बार पहुंचा है. इससे स्‍पष्‍ट है कि पर्यटकों को यहां पर कानून और सुरक्षा व्‍यवस्‍था पर पूरा भरोसा है, जिस वजह से पिछले आठ माह में इतनी बड़ी संख्‍या में पर्यटक पहुंचे हैं.

जम्‍मू कश्‍मीर पर्यटन के विशेष सचिव अमरजीत सिंह ने बताया कि ​जनवरी-2022 से अगस्त-2022 तक जम्मू-कश्मीर जाने वाले पर्यटकों की संख्या 1.42 करोड़ रही है. खास बात है कि देश के अलावा विदेशी पर्यटक भी आ रहे हैं. इसमें 11,000 विदेशी पर्यटक भी शामिल हैं.

भारत सरकार के आह्वान पर जम्मू-कश्मीर अपने यहां 75 ऐसे पर्यटक स्थलों को विकसित कर रही है, जो पहले से अनजान स्थल थे. इनके विकसित होने के बाद यहां पर रोजगार के अवसर भी बढ़ेंगे और इलाके का विकास भी होगा.

वहीं,जम्मू-कश्मीर फिल्मों के जरिए अपने राज्य को प्रमोट कर रही है. इसमें केवल हिन्दी फिल्में ही नहीं बल्कि तमिल, तेलुगू, पंजाबी जैसी क्षेत्रीए भाषाओं के लिए भी रास्ते खोले हैं. फिल्म निर्माताओं को आकर्षित करने के लिए राज्य सरकार ने सब्सिडी भी देने की घोषणा की है. अगर कोई फिल्म निर्माता अपनी फिल्म का 50 प्रतिशत से अधिक हिस्सा जम्मू-कश्मीर में शूट करता है तो उन्हें 50 फीसदी सब्सिडी दी जाएगी और अगर वह अपनी दूसरी फिल्म भी जम्मू-कश्मीर में बनाता है तो उन्हें 75 फीसदी सब्सिडी मिलेगी.

राज्‍य में शांति व्‍यवस्‍था का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि राज्य के पुलवामा, पुंछ समेत तीन सीमावर्ती इलाके में सिनेमा घर खोले गए हैं. राज्य सरकार पर्यटकों की सुरक्षा पर खासा ध्यान दे रही है, इसके लिए स्थानीय लोगों के साथ बैठक की जा रही है. वहीं राज्‍य में पर्यटन को बढ़ाने के लिए सरकार होम स्टे विकसित कर रही है. मौजूदा समय राज्य में 10000 के करीब होम स्टे रजिस्टर्ड हो चुके हैं.

Tags: Modi government

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: