Thursday, September 29th, 2022

6 महीने में ही हांफ गईं ग्रेटर नोएडा में यूपी रोडवेज की सिटी बसें, इतना हुआ नुकसान : Lokmat Daily

6 महीने में ही हांफ गईं ग्रेटर नोएडा में यूपी रोडवेज की सिटी बसें, इतना हुआ नुकसान : Lokmat Daily

नोएडा. इसी साल जनवरी से ग्रेटर नोएडा में सिटी बस (City Bus) सेवा शुरू हुई थी. लेकिन 6 महीने में सिटी बस सर्विस हांफने लगी है. हर महीने लाखों रुपये का नुकसान हो रहा है. ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी (Greater Noida Authority) ने यूपी रोडवेज (UP Roadways) के साथ मिलकर सिटी बस सर्विस शुरू की है. 10 बसों के साथ सिटी बस सर्विस शुरू की गई थी. ग्रेटर नोएडा (Greater Noida) के सभी सेक्टर, गांव और ग्रेनो वेस्ट को भी सिटी बस के 5 रूट में रखा गया है. बावजूद इसके बस सर्विस घाटे में जा रहे है.

6 महीने बाद भी संचालन और रूट में नहीं हुआ बदलाव

फ्लैट बॉयर्स एसोसिएशन का आरोप है कि 6 महीने पहले ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी और यूपी रोडवेज ने 10 बसों और 5 रूट के साथ सिटी बस सर्विस शुरू की थी. लेकिन अफसोस की बात यह है कि आज भी बसों और रूट की संख्या वही है. उसमे कोई बदलाव नहीं किया गया है. 6 महीने में न तो बसों की संख्या बढ़ी और न ही रूट 5 से 6 या 7 हुए. हालांकि उस वक्त अधिकारियों की ओर से कहा गया था कि बसों की संख्या और रूट को बढ़ाया जाएगा. लेकिन अभी तक न तो बसें 10 से 11 हुईं और न ही रूट 5 से 6 हुए.

ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी उठा रही है सिटी बसों का खर्च

ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी के पूर्व सीईओ नरेन्द्र भूषण और यूपी रोडवेज के एमडी नवदीप के बीच एक बैठक हुई थी. बैठक में यह बात तेजी से उठी थी कि सिटी बस से उतनी इनकम नहीं हो पाती है जितना खर्च होता है. इस पर अथॉरिटी के सीईओ ने कहा था कि लागत और इनकम के बीच जो भी अंतर आएगा उसकी भरपाई ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी करेगी. हालांकि इस बैठक में दिल्ली-गाजियाबाद, बुलंदशहर, हापुड़ को ग्रेटर नोएडा ईस्ट-वेस्ट और गांवों से जोड़ने के लिए उन शहरों से आने वाली बसों को अस्थाई बस स्टॉप तक लाने की बात भी हुई थी. अस्थाई बस स्टॉप टेकजोन 4 में बनाने की बात हुई थी. अस्थाई बस स्टॉप पर शौचालय, पानी, कुर्सी, टीनशेड जैसी सुविधाओं का इंतजाम करने की बात भी हुई थी.

अब एक कॉल पर फ्री में उठेगा कंस्ट्रक्शन एंड डिमोलिशन वेस्ट, जानें प्लान

पहला रूट

ननुआ राजपुर से कासना बस डिपो- ननुआ राजपुर से दनकौर रोड, कनारसी पुल, बागपुर, घंघोला चौकी, सिरसा, कासना, बस डिपो, ओमीक्रान गोल चक्कर (130 मीटर रोड), ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी, सेक्टर ईटा वन गोल चक्कर, सेक्टर जीटा वन (एटीएस गोल चक्कर), गुलिस्तानपुर, तिलपता चौक, सूरजपुर घंटा चौक, सूरजपुर कलेक्ट्रेट, एलजी चौक, जगत फार्म, परी चौक, कासना डिपो.

दूसरा रूट

ननुआ राजपुर से कासना बस डिपो- ननुआ राजपुर, बिलासपुर, गिरधरपुर, सिरसा, बैनेट विश्वविद्यालय, डाबरा, सिग्मा-4 गोल चक्कर (130 मीटर रोड), ग्रेनो प्राधिकरण कार्यालय, तिलपता चौक, एक मूर्ति गोल चक्कर ग्रेनो वेस्ट, किसान चौक, हनुमान मंदिर, बिसरख, तुस्याना, पुलिस लाइन, सूरजपुर चौक, कलेक्ट्रेट, एलजी चौक, पी-3 गोल चक्कर, कासना डिपो.

तीसरा रूट

कासना बस डिपो से कासना बस डिपो- कासना बस डिपो, सेक्टर सिग्मा दो व चार गोल चक्कर, सेक्टर 36, 37 गोल चक्कर, एच्छर, ओमीक्रान तीन गोल चक्कर, ग्रेनो प्राधिकरण कार्यालय, डेल्टा वन मेट्रो स्टेशन, बीटा दो ओमैक्स मॉल, गामा दो यूपी रेरा कार्यालय, जगत फार्म, एपीजे कॉलेज, जीएल बजाज, शारदा विश्वविद्यालय, जीएनआईओटी कॉलेज, गलगोटिया कॉलेज, यमुना प्राधिकरण, पी-3 गोल चक्कर, कासना डिपो.

चौथा रूट

घरबरा गांव से कासना बस डिपो- घरबरा गांव, गौतमबुद्घ विश्वविद्यालय, जिम्स अस्पताल, कासना गांव, होंडा चौक, सेक्टर चाई-फाई वन गोल चक्कर, सेक्टर चाई-2, यथार्थ अस्पताल, गलगोटिया कॉलेज, जीएनआईओटी, शारदा विश्वविद्यालय, एलजी चौक, जगत फार्म, यूपी रेरा कार्यालय, रायन गोल चक्कर, ईटा वन गोल चक्कर, विप्रो गोल चक्कर, ग्रेनो प्राधिकरण कार्यालय, ओमीक्रान तीन, सेक्टर म्यू वन, मथुरापुर गोल चक्कर, जू-तीन, सिग्मा तीन, कासना बस डिपो.

पांचवां रूट

कुलेसरा से कासना बस डिपो- हिंडन पुल कुलेसरा, हबीबपुर, कच्ची सड़क, यामाहा टी-प्वाइंट, सूरजपुर चौक, कलेक्ट्रेट, एलजी चौक, जगत फार्म, बीटा वन, रायन स्कूल, अल्फा वन कॉमर्शियल बेल्ट, सिटी पार्क, ग्रेनो प्राधिकरण कार्यालय, ओमीक्रान तीन, ओमीक्रान वन, जू-तीन, हायर कंपनी, अजायबपुर, रिठौरी, बैनेट विश्वविद्यालय, डाबरा, डाढ़ा, सिरसा गोल चक्कर, सिग्मा चार, सिग्मा तीन, नट की मढैया, कासना बस डिपो.

Tags: Electric City Bus, Ghaziabad News, Greater Noida Authority, UP Roadways

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: