Saturday, July 2nd, 2022

काशी विद्यापीठ ने शुरू किया ‘ड्रामा’ का नया कोर्स, पूर्वांचल के स्‍टूडेंट्स को होगा बड़ा फायदा : Lokmat Daily

काशी विद्यापीठ ने शुरू किया ‘ड्रामा’ का नया कोर्स, पूर्वांचल के स्‍टूडेंट्स को होगा बड़ा फायदा : Lokmat Daily

रिपोर्ट- अभिषेक जायसवाल

वाराणसी. यूपी में प्रस्तावित फिल्म सिटी के निर्माण की कवायद के बीच वाराणसी (Varanasi) के महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ (Mahatma Gandhi Kashi Vidyapith University) में इसको लेकर खास कोर्स की शुरुआत हुई है. इसी सत्र से विश्वविद्यालय के ललित कला विभाग में बी. ड्रामा (B. Drama) नाम से नया कोर्स शुरू किया गया है. विश्वविद्यालय में शुरू हुए इस नए कोर्स में एडमिशन के लिए 25 जून तक छात्र आवेदन कर सकेंगे. बताते चलें कि ड्रामा में डिग्री कोर्स की पढ़ाई कराने वाला महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ यूपी का पहला विश्वविद्यालय बन गया है.

विश्वविद्यालय में शुरू हुए इस नए कोर्स से पूर्वांचल के युवाओं को यूपी में फिल्म सिटी के निर्माण के बाद बेहतर रोजगार का अवसर मिलेगा.इसके साथ ही पूर्वांचल के छात्र बॉलीवुड की इंड्रस्टी में भी बेहतर भविष्य बना सकेंगे. ललित कला विभाग के प्रोफेसर सुनील कुमार विश्वकर्मा ने बताया कि चार साल के इस कोर्स में छात्रों को स्टेज की साज सज्जा,लाइट अरेंजमेंट के साथ ही अभिनय से जुड़े सभी पहलुओं की पढ़ाई कराई जाएगी.

25 जून तक कर सकते हैं आवेदन
विद्यापीठ में शुरू हुए इस नए कोर्स में 30 सीटें हैं. जरूरत के हिसाब से अगले साल सीटों को बढ़ाया जा सकता है. विश्वविद्यालय के प्रोफेसर सुनील कुमार ने बताया कि चार साल के इस कोर्स की कुल फीस 1 लाख 75 हजार के करीब है. इस फील्ड में रुचि रखने वाले छात्र 25 जून तक इस कोर्स में एडमिशन के लिए ऑनलाइन माध्यम से आवेदन कर सकते हैं.

ऐसे करिए आवेदन
इसके लिए छात्र विश्वविद्यालय की ऑफिसियल वेबसाइट www.mgkvp.ac.in पर जाकर आवेदन कर सकते हैं.ऑनलाइन आवेदन के बाद छात्र आवेदन शुल्क 27 जून तक जमा कर सकते हैं.

छात्रों में खुशी
विश्वविद्यालय में ड्रामा के डिग्री कोर्स की शुरुआत के बाद छात्रों में खुशी का माहौल है. छात्रा रोशनी यादव ने बताया कि यूपी में फिल्म सिटी के बाद इस कोर्स से छात्रों को फायदा होगा और उन्हें अपने प्रदेश में बेहतर जॉब भी मिलेगी.

Tags: Film city in up, Varanasi news

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: