Monday, May 23rd, 2022

ज्ञानवापी मस्जिद परिसर के सर्वे के दौरान मिली मगरमच्छ की खूबसूरत मूर्ति, जानें फिर क्‍या हुआ? : Lokmat Daily

ज्ञानवापी मस्जिद परिसर के सर्वे के दौरान मिली मगरमच्छ की खूबसूरत मूर्ति, जानें फिर क्‍या हुआ? : Lokmat Daily

वाराणसी. उत्तर प्रदेश के वाराणसी में ज्ञानवापी मस्जिद परिसर का वीडियोग्राफी सर्वे शनिवार सुबह कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच एक बार फिर शुरू हो गया. जबकि सर्वे रविवार को भी जारी रहेगा. वहीं, वाराणसी के जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने बताया कि कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच ज्ञानवापी मस्जिद परिसर की वीडियोग्राफी की गयी और करीब 50 फीसदी सर्वे का काम पूरा हुआ. इसके साथ उन्‍होंने कहा कि सर्वे का काम कल को भी जारी रहेगा. वहीं, सर्वे के पहले दिन मिली मगरमच्छ की खूबसूरत मूर्ति की जमकर चर्चा हो रही है.

ज्ञानवापी मस्जिद परिसर के सर्वे के दौरान मिली मगरमच्छ की मूर्ति इतनी खूबसूरत थी कि काफी देर तक सभी एकटक उसे देखते ही रह गए. इससे एक बात साफ होती है कि उस समय के कारीगरों की कलाकारी बहुत उच्च दर्जे की थी. इसके साथ सर्वे में मंदिरों के टूटे हुए शिखर के काफी टुकड़े भी मिले हैं.

Gyanvapi mosque survey, Varanasi News, UP Police, Crocodile Statue, Varanasi Court वाराणसी न्‍यूज़, यूपी पुलिस, मगरमच्छ की मूर्ति

मगरमच्छ की मूर्ति को सर्वे करने वाले लोग काफी देर तक देखते रहे.

रविवार को भी जारी रहेगा सर्वे का काम
बता दें कि सर्वे का काम शनिवार को सुबह आठ बजे से दोपहर 12 बजे तक ही किया गया. इसमें सभी पक्षकार और उनके अधिवक्ता और सहायक मौजूद रहे. सरकार की तरफ से पक्षकार राज्य सरकार, जिलाधिकारी वाराणसी, पुलिस आयुक्त, काशी विश्वनाथ मंदिर ट्रस्ट के ट्रस्टी मौजूद रहे. वाराणसी के जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने बताया कि आज की कार्यवाही में सभी पक्षों ने न्यायालय के आदेश का पालन किया. लगातार चार घण्टे के सर्वे में लगभग 50 प्रतिशत से अधिक स्थानों का सर्वे किया जा चुका है.

शर्मा ने बताया कि आज की कार्यवाही से सभी पक्षकार संतुष्ट हैं और रविवार को पुनः सर्वे का कार्य किया जाएगा. वादी और प्रतिवादी पक्ष के अधिवक्ता और कोर्ट कमिश्नर ने बाहर निकलने के बाद कुछ भी बताने से इनकार किया. वाराणसी के पुलिस आयुक्त ए सतीश गणेश ने बताया कि सर्वे कार्य शांतिपूर्ण तरीके से चला. किसी भी पक्ष ने कोई अवरोध उत्पन्न नहीं किया. सब कुछ सामान्य रहा. हमने (पुलिस आयुक्त और जिला मजिस्ट्रेट) सर्वे कार्य की बारीकी से निगरानी किया.

बता दें कि शनिवार को 1500 से अधिक पुलिसकर्मियों और पीएसी जवानों को ज्ञानवापी मस्जिद परिसर की सुरक्षा में तैनात किया गया था. अधिकारियों के मुताबिक, ज्ञानवापी मस्जिद परिसर के 500 मीटर के दायरे में लोगों की आवाजाही रोक दी गई गयी. पुलिस ने गोदौलिया और मैदागिन इलाके से वाहनों की आवाजाही भी प्रतिबंधित कर दी गयी थी. ज्ञानवापी मस्जिद परिसर में प्रवेश करने से पहले हिंदू पक्ष के अधिवक्ता मदन मोहन यादव ने कहा कि कोर्ट कमिश्नर अजय मिश्रा ने सर्वे टीम के सभी सदस्यों को सुबह 7.30 बजे विश्वनाथ मंदिर परिसर के गेट नंबर-4 पर उपस्थित होने का निर्देश दिया था. ज्ञानवापी मस्जिद प्रतिष्ठित काशी विश्वनाथ धाम के करीब स्थित है और स्थानीय अदालत महिलाओं के एक समूह द्वारा इसकी बाहरी दीवारों पर मूर्तियों के सामने दैनिक प्रार्थना की अनुमति मांगने से जुड़ी याचिका पर सुनवाई कर रही है. जिलाधिकारी ने इससे पहले कहा था कि शुक्रवार को सभी संबंधित पक्षों के साथ एक महत्वपूर्ण बैठक हुई थी, जिसमें उनसे अदालत द्वारा गठित आयोग के काम में अवरोध उत्पन्न न करने और कानून-व्यवस्था बनाए रखने में सहयोग देने की अपील की गई थी. कोर्ट ने संपूर्ण परिसर की वीडियोग्राफी करके 17 मई तक रिपोर्ट पेश करने के निर्देश भी दिए थे.

वहीं, ज्ञानवापी मस्जिद का रख-रखाव करने वाली संस्था ‘अंजुमन इंतजामिया मसाजिद’ के संयुक्त सचिव सैयद मोहम्मद यासीन ने शुक्रवार को कहा था कि हमने सिविल जज रवि कुमार दिवाकर की अदालत द्वारा गुरुवार को पारित आदेश को उच्चतम न्यायालय में चुनौती दी है. न्यायालय ने कहा है कि वह इस पर कोई आदेश देने से पहले सभी फाइलें देखेगा. अगर वह इस मामले पर कोई आदेश नहीं देता है तो हम उच्च न्यायालय का दरवाजा भी खटखटा सकते हैं. यासीन ने कहा था कि तब तक हम जिला अदालत द्वारा दिए गए आदेश के पालन में सहयोग करेंगे. वहीं, मुस्लिम पक्ष के वकील अभय नाथ यादव ने कहा था कि जिला अदालत के फैसले को उच्च न्यायालय में चुनौती देने के बारे में अभी कोई अंतिम फैसला नहीं लिया गया है. सभी से राय-मशिवरे के बाद ही इस पर कोई निर्णय लिया जाएगा.

उल्लेखनीय है कि वाराणसी की अदालत ने ज्ञानवापी-शृंगार गौरी परिसर का सर्वे-वीडियोग्राफी कार्य कराने के लिए नियुक्त कोर्ट कमिश्नर अयुक्त अजय मिश्रा को पक्षपात के आरोप में हटाने की मांग संबंधी याचिका गुरुवार को खारिज कर दी थी.

Tags: Crocodile, Gyanvapi Mosque, Varanasi news, Varanasi Police

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: